अंबाला की केंद्रीय जेल में हरियाणा के तीसरे ‘जेल-रेडियो’ का उदघाटन

Advertisements

चण्डीगढ़ 27, फरवरी-हरियाणा के गृह सचिव एवं अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा ने अंबाला की केंद्रीय जेल में हरियाणा के तीसरे ‘जेल-रेडियो’ का उदघाटन करने के बाद अपने संबोधन में कहा कि जेल-रेडियो शुरू करने का मुख्य उद्देश्य जेल के बंदियों में कला, रचनात्मकता और सद्भाव को बढ़ावा देना है। इस अवसर पर डीजीपी (जेल) श्री के. सेल्वराज भी उपस्थित थे। इससे पूर्व ‘तिनका-तिनका फाऊंडेशन’ के सहयोग से पानीपत व फरीदाबाद में भी जेल-रेडियो शुरू किए जा चुके हैं।
श्री राजीव अरोड़ा ने कहा कि अंबाला की केंद्रीय जेल हरियाणा की तीन केंद्रीय जेलों में से एक है, यह जेल भारत की एक ऐतिहासिक जेल भी है। उन्होंने कहा कि वैसे तो जेल की अपनी ही दुनिया है लेकिन रेडियो शुरू होने से जेल के बंदी बाहरी दुनिया के साथ जुड़े रहेंगे। उन्होंने बताया कि हरियाणा में कुल 19 जेलें हैं और बंदियों की सुधार प्रक्रिया में मदद के लिए लगभग सभी जेलों में जेल-रेडियो शुरू करने की योजना है।
उन्होंने यह भी बताया कि जेलों में और अधिक सुधार के विचार को लेकर आज विभिन्न एनजीओ के संस्थापकों और पदाधिकारियों से संवाद भी हुआ है
इस अवसर पर डीजीपी (जेल) श्री के.सेल्वराज ने कहा कि अंबाला जेल में रेडियो की शुरुआत के साथ ही हरियाणा की जेलो में जेल-रेडियो को स्थापित करने के पहले चरण को पूर्ण कर लिया गया है और अब  द्वितीय चरण के तहत राज्य की चार अन्य जेलों में भी जेल-रेडियो की शुरू किया जाएगा। सेल्वराज ने राज्य की जेलों में बंदियों में हो रहे सुधार पर संतुष्टि व्यक्त की। जेल के अधीक्षक श्री लखबीर सिंह ने कहा, जेल रेडियो से  बंदियो के अंदर पैदा हुई निराशा, कुंठा को सकरात्मक सोच, बंदियो जीवन में आशा की उम्मीद की एक किरण और रचनात्मकता प्रदान करने में सहायता मिलेगी।

Leave a Reply