तीन बंदर नाटक ने दर्शकों को बहुत ही हंसाया गुदगुदाया

Advertisements

अम्बाला, 28 फरवरी:-

संस्कार भारतीय अंबाला इकाई द्वारा नाट्य शास्त्र के रचयिता भरत मुनि जी की जयंती के उपलक्ष में दो दिवसीय भरतमुनि नाट्य उत्सव का आयोजन किया गया। इस आयोजन में पहले दिन राहुल शर्मा द्वारा निर्देशित नाटक शाश्वत सत्य प्रस्तुत किया गया । दूसरे दिन नागेंद्र शर्मा द्वारा निर्देशित संस्कृत नाटक दीप दानम एवं हास्य नाटक तीन बंदर मसखरे थिएटर ग्रुप अम्बाला द्वारा प्रस्तुत किए गए।

जहां एक और संस्कृत नाटक पन्नाधाय की स्वामिभक्ति का परिचय देते हुए उनके पुत्र की बलिदान गाथा पर आधारित रहा। वहीं दूसरी ओर तीन बंदर नाटक ने दर्शकों को बहुत ही हंसाया गुदगुदाया । अंधे बहरे और गूंगे की आपसी तालमेल ने दर्शकों को हंसने पर मजबूर कर दिया । संस्कार भारती अंबाला के अध्यक्ष डॉ प्रदीप शर्मा स्नेही ने संस्कार भारती का परिचय देते हुए संस्कार भारती के आठ पर्वों का जिक्र किया । जिनमें से एक उत्सव यह नाट्य उत्सव रहा । डॉ प्रदीप शर्मा एवं कार्यकारी अध्यक्ष पीकेश बत्रा ने मुख्य अतिथि सुंदर ढींगरा जी का पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया। विशिष्ट अतिथि डॉ किरण आँगरा एवं डॉ सुरजीत आँगरा जी अध्यक्ष रोटरी क्लब अम्बाला सेंट्रल का स्वागत डॉक्टर अंजली भारती और प्रवीण जी ने किया । विशिष्ट अतिथि मदन लाल अग्रवाल जी अध्यक्ष एम डी एस डी गर्ल्स कॉलेज का स्वागत श्री हर मोहन जी व प्रवीण जी ने पुष्पगुच्छ देकर किया। विशिष्ट अतिथि पायल गुप्ता जी का स्वागत सह मातृशक्ति प्रमुख ज्योति शर्मा जी ने किया। दीप प्रज्वलन के बाद दोनों नाटकों की प्रस्तुति रही। सुंदर ढींगरा जी ने संस्कार भारती के इस सांस्कृतिक प्रयास की सराहना करते हुए यह कहा कि ऐसे आयोजन नगर में होते रहने चाहिए जिससे कला एवं संस्कृति को बढ़ावा मिलेगा । वहीं दूसरी ओर डॉ किरण आँगरा ने अपने वक्तव्य में कलाकारों की भूरी भूरी प्रशंसा करते हुए निर्देशक नागेन्द्र शर्मा के कार्यों की प्रशंसा की और भविष्य में भी कलाकारों की हर सम्भव सहायता करने की बात कही । मुख्य अतिथि सुंदर ढींगरा जी ने संस्कृत नाटक के कलाकारों हिमांशी, करण, शिवम, हिमांशी शर्मा, अंशिका, मोनिका, दीपिका एवं संस्कृत नाटक के निर्देशक नागेंद्र शर्मा को सम्मानित किया। वहीं डॉ किरण आगरा और पायल गुप्ता जी ने तीन बंदर नाटक प्रस्तुत करने वाली टीम मसखरे थिएटर ग्रुप के कलाकारों तरुण जलोटा, राज किरण, मनीषा शर्मा, रजत कौशिक एवं नाटक के निर्देशक नागेंद्र शर्मा को को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। संस्कार भारती अंबाला इकाई ने नागेंद्र शर्मा को संस्कृत नाटक निर्देशन के 25 वर्ष पूर्ण करने के अवसर पर कला गौरव सम्मान से सम्मानित किया। कार्यक्रम में वेदांता टोडलर स्कूल अम्बाला का विशेष सहयोग रहा। नरेन्द्र ठाकुर जी ने मंच संचालक की भूमिका को बखूबी निभाया। मंच संचालन में ज़ीना जी व अंजली भारती जी ने भी अपना सहयोग दिया। डॉ प्रदीप शर्मा जी ने कार्यक्रम की सफलता का श्रेय इकाई के सभी सदस्यों पीकेश बत्रा, हरमोहन, ज्योति, तरुण , प्रवीण, जय प्रकाश, किरण, संतोष, जीना, निशांत को दिया। 

Leave a Reply