हरियाणा में स्वास्थ्य सेवाओं का किया जा रहा निरंतर विस्तार – मुख्यमंत्री

Advertisements

चंडीगढ़, 3 मई- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहरलाल ने आज कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन के वितरण की मात्रा को बढ़ाया गया है तथा इस समय आवश्यकतानुसार सभी जिलों को उचित मात्रा में ऑक्सीजन की सप्लाई की जा रही है।
मुख्यमंत्री ने आज जिला पलवल में कोविड-19 से बचाव की तैयारियों व प्रबंधों की समीक्षा के दौरान यह जानकारी देते हुए बताया कि ऑक्सीजन की सप्लाई सुचारू रूप से जारी रखने के लिए सभी जिला में अधिकारियों की टीमें बनाई गई हैं, जो अपनी निगरानी में आवश्यकतानुसार अस्पतालों को ऑक्सीजन की आपूर्ति करवा रही हैं। अब सरकार का प्रयास है कि अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति के बाद डॉक्टर के परामर्श अनुसार मरीजों को व्यक्तिगत रूप से भी ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध करवाई जाए।
मुख्यमंत्री ने अपने दौरे के दौरान सबसे पहले पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में कोविड-19 के संबंध में जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ मीटिंग की तथा इसके बाद नागरिक अस्पताल पलवल का दौरा कर सभी व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने पलवल में किए गए प्रबन्धों पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि कोविड-19 के मरीजों की बढ़ रही संख्या को देखते हुए प्रदेश में स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं का और अधिक विस्तार जा रहा है। मरीजों के लिए आक्सीजन बेड्स व साधारण बेड्स की संख्या भी बढ़ाई जा रही है।
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि ग्रामीण क्षेत्रों में प्रत्येक व्यक्ति का स्वास्थ्य संबंधी सर्वे करवाया जाए। अगर इस सर्वे में किसी व्यक्ति को कोरोना के लक्षण मिलते हैं, तो उस व्यक्ति को तुरंत होम आइसोलेशन पर रहने की सलाह दी जाए, ताकि संक्रमण की संभावना को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि सिविल अस्पताल पलवल में ऑक्सीजन बेड्स की संख्या बढ़ाई जाए, जिस पर सिविल सर्जन ने जानकारी दी कि जल्द ही अस्पताल में ऑक्सीजन के बेडस की संख्या 170 कर दी जाएगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 की परिस्थितियों के मद्देनजर जिला प्रशासन के अधिकारी जिले में आवयश्क वस्तुओं, दवाइयों की सप्लाई पर भी नजर रखें। अगर कोई व्यक्ति या दुकानदार आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी करता है, निर्धारित दरों से अधिक रेट पर बिक्री करता है या वस्तुओं को अनावश्यक रूप से स्टोर करता है तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि जिले में महंगाई पर पूरी तरह से नियंत्रण रहना चाहिए। जिले में जागरूकता कार्यक्रम भी चलाए जाएं ताकि लोग लॉकडाउन की परिस्थितियों के मद्देनजर जरूरी दिशा-निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित करें। इसके अतिरिक्त, उन्होंने जिले में बैड व ऑक्सीजन की उपलब्धता का निरंतर ऑडिट करने के भी निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन की सप्लाई पूरी करने के बाद अब वैंटीलेटर की संख्या बढ़ाई जा रही है तथा अगर किसी जगह पर वैंटीलेटर का उपयोग नहीं हो पा रहा है तो ऐसे वैंटीलेटर को जरूरत वाले स्थानों पर भेजा जाएगा, ताकि अधिक से अधिक मरीजों को जरूरी सुविधा मिल सके।
इससे पूर्व, उपायुक्त श्री नरेश नरवाल ने जिला में कोविड-19 के संबंध में की गई तैयारियों व प्रबंधों के बारे में बताया कि जिला में ऑक्सीजन की आपूर्ति सुचारू रूप से की जा रही है। जिला में कोविड-19 के मरीजों के लिए बेड्स की संख्या 700 तक बढ़ाने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। आवश्यकतानुसार ऑक्सीजन बेड्स की संख्या भी बढ़ाई जा रही है। इस समय जिला में कोविड के मरीजों के लिए कुल 431 बेड्स व 170 ऑक्सीजन बेड्स उपलब्ध हैं। जिला में सरकारी व निजी विभिन्न 28 संस्थानों में 3 हजार 110 आइसोलेशन बेड्स तैयार किए गए हैं, जिसमें दाखिल होने वाले मरीजों को स्वास्थ्य विभाग की ओर से स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी। उन्होंने बताया कि जिला में पटवारी व ग्राम सचिवों द्वारा सभी गांवों में बीमार लोगों के संबंध में सर्वे करवाया जा रहा है। इसी प्रकार, कोविड-19 पॉजीटिव मामले मिलने पर आस-पास के क्षेत्र को तुरंत माइक्रो कंटेनमेंट जोन बना दिया जाता है। लोगों को जागरूक करने के लिए जागरुकता रथ चलाए जा रहे हैं। सामान्य अस्पताल पलवल में टेलीमेडिसन सेवा शुरू की गई है, ताकि फोन पर ही मरीजों को डाक्टर्स द्वारा जरूरी परामर्श दिया जा रहा है। भारत विकास परिषद की ओर से मरीजों के लिए खाना तैयार करने हेतु किचन चलाई जा रही है।
इस अवसर पर पुरातत्व एवं संग्राहलय व श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री श्री अनूप धानक, पलवल के विधायक श्री दीपक मंगला, हथीन के विधायक श्री प्रवीण डागर के अतिरिक्त जिला प्रशासन के अनेक अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply